गुरुवार, 20 जनवरी 2011

लड़कियाँ रेडियो से जानेंगी दुनिया का हाल

Founder of Appan Samachar Santosh Sarang presenting radio 
Samiti Sadasya Harendra Kushwaha presenting radio to girls
अप्पन समाचार टीम को नववर्ष पर उपहार स्वरुप रेडियो सेट दिया गया. १९ जनवरी को रामलीला गाछी में एक छोटे से कार्यक्रम के जरिये अप्पन समाचार टीम की ९ लड़कियों को एक-एक रेडियो सेट और परिचय पत्र प्रदान किया गया. यह आयोजन मिशन आई के सौजन्य से आयोजित हुआ. इस अवसर पर मिशन आई के अध्यक्ष व अप्पन समाचार के संस्थापक संतोष सारंग, अप्पन समाचार के वीडियो ट्रेनर राजेश कुमार, मिशन आई के फूलदेव पटेल, चंद्केवारी पंचायत के समिति सदस्य हरेन्द्र कुशवाहा सहित कई लोग मौजूद थे. इस लड़कियों को रेडियो देने का मकसद यह था कि अप्पन समाचार के लिए समाचार इकठ्ठा करने वाली गाँव की लड़कियाँ देश-दुनिया में हो रहे हलचल को आसानी से जान सके और अपने ज्ञान के भंडार को बढ़ा कर अप्पन समाचार के कार्यक्रम में निखार लाये. चूँकि रेडियो संचार का सबसे सस्ता माध्यम हैं, इसलिए रेडियो देने का निर्णय किया गया. सनद रहे कि इस दियारा इलाके में बिजली नहीं होने के कारण आज भी टेलीविजन पर कार्यक्रम देखना महंगा है. इक्का-दुक्का परिवार भाड़े पर बैट्री लेकर रविवार को सिनेमा का लुत्फ़ उठा लेता है. लेकिन सभी के लिए यह संभव नहीं है.
Group photo of Appan Samachar team with the guests
हम यहाँ सुनील कुमार जी के बारे में जिक्र करना मुनासिब समझता हूँ, क्योंकि केरल में इसरो में बतौर वैज्ञानिक अपनी सेवा देते हुए उन्होंने अपनी सैलरी से अप्पन समाचार के लिए ३००० हजार भेजा है. मैंने उनके इस सहयोग से ही इन लड़कियों को रेडियो दे पाया. सुनील जी मुख्यतः मुजफ्फरपुर के ही रहने वाले हैं. उनसे मेरी पहली मुलाकात पटना में दो-तीन साल पहले हुई थी. ऐसे दानवीरों को अप्पन समाचार टीम की ओर से लाख-लाख धन्यवाद्. बिहार की धरती उनके इस सहयोग के किये आभार प्रकट करता है.

कोई टिप्पणी नहीं: